‘एफमी गाला अवार्ड‘ सेरेमनी

केन्द्रीय अल्पसंख्यक मामलात एवं संसदीय कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नक़वी ने बतौर मुख्य अतिथि कहा कि तालीम के बिना जिन्दगी के किसी भी क्षेत्र में तरक्की मुमकिन नहीं। वे शनिवार 30 दिसम्बर को मौलाना आजाद यूनिवर्सिटी जोधपुर बुझावड़ में आयोजित दो दिवसीय 26वें ‘एफमी गाला अवार्ड‘ सेरेमनी के प्रथम दिन देश भर के छात्र-छात्राओं को सम्बोधित कर रहे थे।

मारवाड मुस्लिम एज्यूकेशनल एण्ड वेलफेयर सोसायटी के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस सेरेमनी में नक़वी ने कहा कि रोजगारपरक शिक्षा को आम करने की जरूरत है। केन्द्र सरकार ने शिक्षा के साथ-साथ, स्वास्थ्य और सफाई के क्षेत्रो पर ध्यान दिलाया है और सफाई सुपरवाईजर के ओहदो पर नियुक्ति दी है। इसी तरह जीएसटी फेसिलिटेटर्स कोर्स के द्वारा रोजगार के नये क्षेत्र खोले है। पिछले साल हैदराबाद में ये कोर्स शुरू किया गया और लगभग 4 हजार लोग प्रशिक्षण कर नौकरी हासिल कर चुके है। उन्होंने कहा कि उनके मंत्रालय ने अपने बजट का 70 प्रतिशत हिस्सा शिक्षा के लिए निश्चित कर दिया है। कौशल विकास पर विशेष तौर से ध्यान दिया जा रहा है। इस साल डेढ करोड शिक्षार्थियों को स्कोलरशिप दी गई है। जो एक नया रिकार्ड है। उन्होंने घोषणा कि है कि 15 अक्टूबर 2018 को डाॅ एपीजे अब्दुल कलाम के जन्मदिवस के मौके पर शिक्षा के क्षेत्र विशेष सेवा देने वाले व्यक्तियों को और संस्थााओं को सम्भवतः माननीय प्रधामंत्री नरेन्द्र मोदी के आतिथ्य में दिल्ली में अवार्ड देकर सम्मानित किया जायेगा।

मुख्तार अब्बास नक़वी ने मौलाना आजाद यूनिवर्सिटी की स्थापना के लिए मारवाड मुस्लिम एज्यूकेशनल एण्ड वेलफेयर सोसायटी एवं उनके सदस्यों को विशेष तौर से महासचिव मोहम्मद अतीक को मुबारकबाद पेश की और कहा कि जिस जज्बे के साथ इस प्रोजेक्ट पर काम किया जा रहा इसमें वो हर सम्भव सहायता करेंगे। इस मौके पर नकवी ने मौलाना आजाद यूनिवर्सिटी की 3 माड्यूलर साइन्स लेब का उद्घाटन भी किया। विशिष्ट अतिथि कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत मारवाड सोसायटी के सराहनीय प्रयास को देखते हुए मौलाना आज़ाद यूनिवर्सिटी के विकास के लिए उन्होंने अपने संासद कोष से 11 लाख रूपये अनुदान देने की घोषणा की। राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के माननीय सदस्य सुनील सिंघी ने अल्पसंख्यक समुदायों को सरकार की ओर विकास के सम्पूर्ण मौके दिये जाने की पैरवी की।

एफमी के फाउन्डर ट्रस्टी अमेरिका के डाॅ ए. आर. नाकादार ने कहा कि देश के मुस्लिम समाज में शत प्रतिशत साक्षरता के लिए ‘अमेरिकन फेडरेशन आॅफ मुस्लिम आॅफ इण्डियन ओरिजिन‘ (एफमी) कीे ओर से देष के विभिन्न राज्यों के कक्षा 10वीं व 12 वीं के प्रत्येक राज्य से टाॅप 6 छात्र-छात्राओं को प्रतिवर्ष गोल्ड, सिल्वर व ब्रान्ज मेडल व प्रषस्ति पत्र से नवाजा जाता है। साथ ही प्रदेश स्तर पर प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वाले देश भर के विद्यार्थियों को स्कोलरशिप प्रदान की जाती है।

एफमी की इस अवार्ड सेरेमनी में यूपी की अमीना खातुन, एमपी की रूकय्या झबुवाला, अमतुल्ला गोवा की बतुल भाटिया, सहित गोल्ड मेडल पाने वाले विद्यार्थियों में वर्ष 2016-17 में कर्नाटका में 10वीं में 99.20 प्रतिशत पानी वाली शिफा सानिया, 12वीं में 99 प्रतिशत पाने वाली तेलंगाना की मंशा जरीन सहित देश भर के 128 छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया गया। विशेष रूप से राजस्थान के जयपुर, सीकर, उदयपुर, टोंक सहित डूंगरपूर की मुनिरा बी वरदावल ने 95.40 प्रतिशत प्राप्त किया है। इनके साथ ही जोधपुर की निशात खान को 10वीं मे 95.00 प्रतिशत प्राप्त करने पर गोल्ड मेडल, सदफ को 10वीं में 93.10 प्रतिशत व इंजिल सय्यद को 10वीं में 93.10 प्रतिशत प्राप्त करने पर सिल्वर मेडल से नवाज़ा गया।

राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के कार्यवाहक अध्यक्ष डाॅ. बलतेज सिंह मान, राष्ट्रीय अल्पसंख्यक शैक्षिक संस्थान आयोग के पूर्व चेयरमेन जस्टिस एमएसए सिद्दीकी, एफमी के संस्थापक डाॅ अब्दुल रहमान नाकादार (मिशीगन), डाॅ इकबला अहमद व डाॅ रजिया अहमद (ओहायो), डाॅ मोहम्मद कुतुबुद्दीन (इण्डियाना), अय्यूब खान (टोरंटो), डाॅ असलम अब्दुल्लाह (लासवेगास), डाॅ हुसैन नगामिया (टेम्पा आॅरलेण्डो फ्लोरिडा), डाॅ जावेद मिर्जा (न्यूयार्क), शफी लोखंडवाला (मिशीगन), सिराज ठाकोर (टोरंटो), तय्यब पूनावाला (बर्मिंघम), डाॅ हबीब भूरावाला (सिडनी), डाॅ अब्दुल हई (पटना), डाॅ फख्रूद्दीन मोहम्मद (हैदराबाद), डाॅ अज़ीम शेरवानी (बहराईच यूपी), नाजिम ए अजमेर दरगाह पीरजादा रिटायर्ड आईएएस अब्दुल कय्यूम अख्तर (जयपुर), कांगे्रस के जिलाध्यक्ष सईद अंसारी, मारवाड़ मुस्लिम एज्यूकेशनल एण्ड वेलफेयर सोसायटी के अध्यक्ष अब्दुल अजीज, शब्बीर अहमद खिलजी, हाजी अबादुल्लाह कुरैशी, फजलुर्रहमान, शौकत अंसारी, नवीर खान, मोहम्मद इस्हाक, जकी अहमद, निसार खिलजी, फिरोज काजी सहित, रजिस्ट्रार डाॅ इमरान खान पठान, आमिर खान, समस्त सदस्य, एफमी के पदाधिकारी एवं देश भर से आये प्रबुद्धजन, राजनितिज्ञ, शिक्षाविद् व समाजसेवी मौजूद थे। दूसरे सेशन में साइन्स टेक्नाॅलोजी, इंजिनियरिंग एण्ड मैथेमेटिक्स विषय पर मूल्य एवं गुणवत्तापरक षिक्षा के विभिन्न आयामों एवं इन क्षेत्रों मे करियर एवं उसके भविष्य पर विस्तार से चर्चा की।

आदर्श मुस्लिम समाचार के सम्पाद के सलीम खिलजी ने अल्पसंख्यक मंत्रालय की ओर से किये जा रहे विकाय कार्यो की जानकारी दी। इस मौके पर एफमी की ओर से मौलना आजाद यूनिवर्सिटी के प्रेसिडेन्ट प्रोफेसर अख्तरूल वासे को सर सय्यद अवार्ड पेश करते हुए उनके षिक्षा के क्षेत्र में निरन्तर सेवा को सम्मानित किया। मौलाना आजाद यूनिवर्सिटी के प्रेसिडेन्ट पद्श्री अख्तरूल वासे ने अध्यक्षता की। संचालन डाॅ असलम अब्दुल्लाह व मोहम्मद अमीन ने किया। तिलावत ए कुरान मौलाना शाहिद हुसैन नदवी ने किया। पूर्व में मौलाना आजाद बीएसटी के विद्यार्थियों ने तराना ए हिन्द व बीएड विद्यार्थी रोशन खान ने पधारो म्होरे देश पेश किया। यूनिवर्सिटी छात्रा रजिया ने बेटी विषय पर खूबसूरत गीत पढा। रविवार 31 दिसम्बर को 10 बजे कमला नेहरू नगर स्थिम मौलाना आजाद स्कूल के सभागार में राजस्थान के स्पेशल सेक्रट्री व प्रोफेसर नन्दलाल कल्ला के मुख्य आतिथ्य में सेरेमनी का समापन समारोह आयोजित किया जायेगा।