एड्स पीड़ितों से प्रेम भाव बनाने के लिए जेएसपीएच ने की अपील

विश्व एड्स दिवस की पूर्व संध्या पर
वरिष्ठ चिकित्सक डाॅ. कान्ती जोशी ने दिया एचआईवी एड्स के प्रति जागरूकता का पैगाम

वल्र्ड एड्स दिवस की पूर्व संध्या पर एड्स के प्रति जागरूकता एवं उससे जुड़ी भ्रांतियों को दूर करने के उद्देष्य से जन-स्वास्थ्य के क्षेत्र में अग्रणी संस्थान मौलाना आजाद यूनिवर्सिटी के पब्लिक हेल्थ संकाय, जोधपुर स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ (जेएसपीएच) की ओर से यूनिवर्सिटी सभागार में गुरूवार को सेमीनार का आयोजन किया गया।
कार्यक्रम संयोजक भूपेश अडवानी ने बताया कि विश्व एड्स दिवस पर हर साल 1 दिसंबर को विश्व भर में कई जागरूकता कार्यक्रमों का आयेाजन होता है इसी कड़ी में इस सेमीनार का आयोजन हुआ। सेमीनार का उद्देश्य नर्सिंग एवं जनस्वास्थ्य कर्मियों की सहभागिता से एड्स महामारी के प्रति लोगों की जागरूकता बढाना है। उन्होंने कहा कि एड्स की जागरूकता के लिए दूसरे अभियानों के साथ प्रशिक्षण, समय पर शिक्षा, सेमिनार, विभिन्न प्रतियोगिताएँ आदि के माध्यम से समुदायों के लोगों के बीच स्वास्थ्य संबंधी जागरुकता को जन स्वास्थ्यकर्मियों के सहयोग से फैलाने की जरुरत है।
एचआईवी एड्स के प्रति जागरूकता एवं उपचार के क्षेत्र में 20 वर्षो से अधिक का अनुभव प्राप्त वरिष्ठ चिकित्सक डाॅ कान्ती जोशी ने एचआईवी एड्स की भ्रान्तिया की जानकारी देते हुए कहा कि एड्स को लेकर आमजन को जागरूक करने की आवष्यकता है उन्होंने एड्स सक्रंमित रोगियों से पूर्ण संवेदना और प्रेमभाव बनाने की अपील की।
आभार उद्बोधन में संकाय सदस्य भावना सती ने इस वर्ष की थीम ‘राइट टू हैल्थ‘ पर विस्तृत जानकारी दी तथा एड्स पीडितों से भेदभाव न करने को कहा। डाॅ अभिषेक लोहरा ने एड्स जागरूकता के लिए नर्सिंगकर्मियों को विशेष सावधानी बरतने की सलाह दी एवं समस्त प्रतिभागियों को एड्स सांकेतिक रिबन वितरित किये। सेमीनार में माई खदिजा इन्स्टिट्यूट आॅफ नर्सिंग साइन्सेज के शिक्षकगण एवं विद्यार्थी उपस्थित थे।